श्रीकृष्णा स्कूल महेन्द्रगढ़ में दो द्विसीय वार्षिक #खेलकूद प्रतियोगिता |

Two-day annual sports competition was inaugurated at Shri Krishna School.

जैसा तन वैसा मन यह कहावत जानते तो सभी हैं परन्तु जो इसका पालन करते हैं वे शारीरिक स्वास्थ्य पर भी ध्यान देते हैं। खेलों का महत्त्व और उपयोगिता आधुनिक जीवन में और भी अधिक बढ़ गयी है।खेलों से प्रतियोगिता की तथा संघर्ष की भावना सहज ही सीखी जा सकती है। सामूहिक जिम्मेदारी, सहयोग और अनुशासन की भावना का कोषागार खेलों में ही छिपा है। जो देश खेलों में अव्वल आते हैं वे विकास की दौड़ में भी अग्रणी रहते हैं। ओलम्पिक तथा राष्ट्रमंडलीय खेल स्पर्धाओं के द्वारा वसुधैव कुटुंबक्म का मंत्र प्रत्यक्ष होता हुआ देखते हैं।


इसी दिशा में अपने महत्पूर्ण कदम बढ़ा रहा है श्रीकृष्णा स्कूल महेन्द्रगढ़, अपने 19 वर्षो के सफर के दौरान राष्ट्रीय व राजकीय स्तर पर अनेक प्रतियोगिताओं को अपने नाम किया है। प्रत्येक वर्ष स्कूल के प्रांगण में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।

प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी दो दिवसीय वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता का शुभारंभ 28 दिसंबर को किया गया। इसमें मुख्य अतिथि जिला प्रमुख राजेश देवी व विशिष्ट अतिथि जिला शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह सांगवान व जिला उप शिक्षा अधीकारी बिजेन्द्र श्योरण तथा अध्यक्षता स्कूल के एमडी कर्मवीर राव ने की।

स्कूल के चेयरमैन डॉ बीर सिंह के अनुसार खेलों में श्रीकृष्णा स्कूल प्रतिभाओं को एक विशिष्ट मंच प्रदान करता है। जहां पर खिलाड़ी कुशल नेतृत्व में अपनी पहचान को एक नया आकार दे सकता है। श्रीकृष्णा स्कूल की परंपरा रही है स्कूल के खिलाड़ी आए दिन राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रिय स्तर पर नए-नए आयामों को प्राप्त कर स्कूल के साथ - साथ जिला व प्रदेश का नाम रोशन कर रहे है।

इस खेलकूद प्रतियोगिता में वॉलीबाल, कबड्डी, एथलेक्टिस, बॉक्सिंग तथा फन खेलों में थ्री लैग स्टैप, चम्मच रेस, बोरी रेस, घोड़ा रेस, जलेबी रेस, मटकी दौड़, 100 मीटर, 200, मीटर, 400, मीटर, 800 मीटर रेस व रिले रेस आदि का आयोजन किया गया ।

Comments

Popular posts from this blog

हिन्दी व्याकरण प्रतियोगिता